उलूक टाइम्स: कई दिन के सन्नाटे के बाद किसी दिन भौंपूँ बजा लेने में क्या जाता है

सोमवार, 28 फ़रवरी 2022

कई दिन के सन्नाटे के बाद किसी दिन भौंपूँ बजा लेने में क्या जाता है

 



कुछ
बहुत अच्छा
लिखने की सोच में
बस सोचता रह जाता है

कुकुरमुत्तों की भीड़ में
खुल के उगना
इतना आसान नहीं हो पाता है

महीने भर का कूड़ा
कूड़ेदान में ही
छोड़ना पड़ जाता है

कई कई दिनों तक
मन मसोस कर
बन्द ढक्कन
फिर खोला भी नहीं जाता है

दो चार गिनती के
पके पकायों को
पकाने का शौक
धरा का धरा रह जाता है

कूड़ेदान रखे रास्तों से
निकलना कौन चाहता है
रास्ते फूलों से भरे
एक नहीं बहुत होते हैं

खुश्बू लिखे से नहीं आती है
अलग बात है
खुश्बू सोच लेने में
कौन सा किसी की जेब से
कुछ कहीं खर्च हो जाता है

समय समय की बात होती है
कभी खुल के बरसने वाले से
निचोड़ कर भी
कुछ नहीं निकल पाता है

रोज का रोज
हिसाब किताब करने वाला
जनवरी के बाद
फरवरी निकलता देखता है
सामने ही मार्च के महीने को
मुँह खोले हुऐ
सामने से खड़ा हुआ पाता है

कितने आशीर्वाद छिपे होते हैं
कितनी गालियाँ मुँह छुपा रही होती है
शब्दकोष में इतना कुछ है
अच्छा है सारा कुछ
सब को हर समय
समझ में एकदम से नहीं आ जाता है

चार लाईन लिख कर
अधूरा छोड़ देना बहुत अच्छा है
समझने वाला 
पन्ने पर खाली जगह देख कर भी
समझ ले जाता है 

पता नहीं
कब समझ में आयेगा
उल्लू के पट्ठे ‘उलूक’ को

आदतन कुछ भी नहीं लिखे हुऐ को
खींच तान कर हमेशा
कुछ बन ही जायेगा
की समझ लिये हुऐ बेशरम

कई दिनों के सन्नाटे से भी
निकलते हुऐ
भौंपूँ बजाने से बाज नहीं आता है।

चित्र साभार: https://www.clipartmax.com/

25 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा-कम अच्छा,
    कूड़ा या खुशबू
    कुकुरमुत्ते या फूल
    लिखने वाली क़लम की
    शब्दकोश से
    निकले विचार
    आधे-अधूरे पन्नों पर
    जब चलती है
    भोंपू नहीं
    सायरन बजाती है।
    ----
    प्रणाम सर
    सादर।

    जवाब देंहटाएं
  2. आपकी लिखी रचना  ब्लॉग "पांच लिंकों का आनन्द" बुधवार 02 मार्च 2022 को साझा की गयी है....
    पाँच लिंकों का आनन्द पर
    आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    जवाब देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा कल बुधवार (02-03-2022) को चर्चा मंच        "शंकर! मन का मैल मिटाओ"    (चर्चा अंक 4357)     पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य यह है कि आप उपरोक्त लिंक पर पधार कर चर्चा मंच के अंक का अवलोकन करे और अपनी मूल्यवान प्रतिक्रिया से अवगत करायें।
    -- 
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' 

    जवाब देंहटाएं
  4. शानदार अभिव्यक्ति।
    सटीक गहन।
    चार लाईन लिख कर
    अधूरा छोड़ देना बहुत अच्छा है
    समझने वाला
    पन्ने पर खाली जगह देख कर भी
    समझ ले जाता है ।

    जवाब देंहटाएं
  5. –आप रोज लिखें... लिखना जब तय किये तो लिखना धर्म हुआ
    °°
    –आपकी रचना अनेक अर्थ समेटे हुए होती है
    °°
    –बधाई और साधुवाद

    जवाब देंहटाएं
  6. लिखना या न लिखना, क्यों लिखना किसके लिए लिखना, ये सारे सवाल जब उठने लगें तो समझना चाहिए कि कुछ बेहतर है जो कहने में नहीं आ रहा है

    जवाब देंहटाएं
  7. वाह! गज़ब कहा सर 👌

    कुछ
    बहुत अच्छा
    लिखने की सोच में
    बस सोचता रह जाता है

    कुकुरमुत्तों की भीड़ में
    खुल के उगना
    इतना आसान नहीं हो पाता है।

    जवाब देंहटाएं
  8. कई बार ढक्कन अपने आप खुल जाते हैं ... भौंपू अपने आप बज जाते हैं ...
    कलम भी अपने आप चल जाती है ...

    जवाब देंहटाएं
  9. Online Casino - Kadangpintar
    It means that you play casino 온카지노 검증 games that are authentic and fun, as well as 우리 카지노 계열 being entertaining 더킹카지노 조작 and 제왕 카지노 도메인 rewarding. It also means that you 메리트 카지노 조작

    जवाब देंहटाएं
  10. कुछ भी हो आपकी रचना हमेशा चिंतन मनन वाली होती है
    मौलिकता तो उसका विशेष गुण है।
    लिखते रहें बस।
    धरती की नागरिक: श्वेता सिन्हा

    जवाब देंहटाएं
  11. कुछ
    बहुत अच्छा
    लिखने की सोच में
    बस सोचता रह जाता है

    कुकुरमुत्तों की भीड़ में
    खुल के उगना
    इतना आसान नहीं हो पाता है..
    बहुत उम्दा उत्कृष्ट सोच की परिचायक ये पंक्तियां सोचने को मजबूर कर गईं ।
    पहले से कुछ अलग, कुछ उम्दा लिखने की गुंजाइश बाकी है ।
    शानदार रचना के लिए बधाई आदरणीय💐👏

    जवाब देंहटाएं
  12. खुश्बू लिखे से नहीं आती है
    अलग बात है
    खुश्बू सोच लेने में
    कौन सा किसी की जेब से
    कुछ कहीं खर्च हो जाता है

    समय समय की बात होती है
    कभी खुल के बरसने वाले से
    निचोड़ कर भी
    कुछ नहीं निकल पाता है
    एकदम सटीक...
    गहन अर्थ समेटे बहुत ही लाजवाब सृजन
    वाह!!!

    जवाब देंहटाएं
  13. वर्तमान परिदृश्य एवं मनोद्वेग की उलटबांसियाँ ... कुछ अलग-सा मारक... कुछ गहरे तक भेदक। कहे से ज्यादा कहती हुई।

    जवाब देंहटाएं
  14. चार लाईन लिख कर
    अधूरा छोड़ देना बहुत अच्छा है
    समझने वाला
    पन्ने पर खाली जगह देख कर भी
    समझ ले जाता है ,,,,,,, बहुत सटीक बात लिखी है सर, बहुत सुंदर ।

    जवाब देंहटाएं
  15. कितनी सहजता से कटाक्ष कर देते हैं
    वाकई समझने के लिए पारदर्शिता चाहिए

    कमाल का व्यंग

    सादर

    जवाब देंहटाएं
  16. The Odisha Board of Secondary Education will shortly announce the 10th Exam Pattern 2023. Officials are likely to unveil the Odisha HSC Blueprint 2023 on their official web domain in November/December. Students are encouraged to read the entire article for further information and details. BSE Odisha 10th Blueprint 2023 We will offer the exact download link for Odisha Board 10th New Blueprint 2023 as well as a step-by-step approach for downloading Blueprint 2023.

    जवाब देंहटाएं
  17. PDF ve diğer formatlarda e-kitap indirebileceğiniz, güncel PDF dosyalarının paylaşıldığı PDF kitap indirme sitesi. PDF Kitap indir, E-Kitap indir, PDF indir PDF Kitap indir

    जवाब देंहटाएं