http://blogsiteslist.com

मंगलवार, 24 जुलाई 2012

कबूतर कबूतर

नर कबूतर ने
मादा कबूतर
को आवाज
देकर घौंसले
से बाहर
को बुलाया

घात लगाकर
बैठी हुई
उकड़ू
एक बिल्ली
को खेत में
सामने
से दिखाया

फिर समझाया
बेवकूफ बिल्ली
पुराने जमाने
की नजर
आ रही है

कबूतर को
पकड़ने के
लिये खुद
ही घात
लगा रही है

जमाना
कहाँ से कहाँ
देखो
पहुँचता जा
रहा है

इस पागल
को अब भी
बिल्ली
को देखकर
आँख बंद
करने वाला
कबूतर याद
आ रहा है

अरे
इसे कोई
समझाये

ठेका किसी
स्टिंग
आपरेशन
करने वाले
को देकर
के आये

किसी भी
ईमानदार
सफेद
कबूतर
पर पहले
काला धब्बा
एक लगवाये

उसके बाद
उसका जलूस
एक निकलवाये

उधर अपने
खुद के घर
पत्रकार
सम्मेलन
एक करवाये

फोटो सोटो
सेशन करवाये

इतना कुछ
जब हो
ही जायेगा

कबूतर खुद
ही शरम
के मारे
मर ही जायेगा

समझदारी
उसके बाद
बिल्ली दिखाये

कबूतर
के घर
फूल लेकर
के जाये

शवयात्रा में
शामिल
होकर
कबूतरों के
दिल में
जगह बनाये

फिर जब भी
मन में आये
कबूतर
के किसी
भी रिश्तेदार
को घर बुलाये

आराम से
खुद भी खाये
बिलौटे को
भी खिलाये ।

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...